प्रशासन ने नोएडा के बार और मॉडल शॉप में बाउंसर किए बैन

State's

[ad_1]

सेक्टर-38ए स्थित गार्डन गैलेरिया मॉल के लॉस्ट लेमंस रेस्तरां-बार में हुई मैनेजर की हत्या के बाद बाउंसरों की तैनाती को लेकर आदेश जारी किया गया है। अब जिले के किसी भी बार व मॉडल शॉप में संचालक बाउंसर नहीं रख पाएंगे। कलेक्ट्रेट में मेरठ मंडल संयुक्त आबकारी आयुक्त ने डीएम व कमिश्नर के साथ मीटिंग कर यह फैसला लिया है। साथ ही, बार संचालकों को 100 रुपये के स्टांप पर अपने कर्मचारियों का रेकॉर्ड देना होगा। बार में अगर मारपीट या किसी भी तरह की घटना घटती है तो इसकी सूचना पुलिस को देनी होगी। बार के कर्मचारी अगर किसी भी तरह की मारपीट अभद्र व्यवहार करते हैं तो इसकी जिम्मेदारी बार संचालक की होगी। इन सब के बीच बृजेश राय से मारपीट करने वाले दोनों बाउंसरों की पहचान मॉल के कर्मचारी के रूप में हुई है।
नोएडा के गार्डन गैलेरिया मॉल में मैनेजर बृजेश की मौत के बाद शासन ने इस घटना को गंभीरता से लिया है। आबकारी आयुक्त के निर्देश पर मेरठ मंडल संयुक्त आबकारी आयुक्त ने डीएम और कमिश्नर के साथ कलेक्ट्रेट में मीटिंग की। मीटिंग में आबकारी विभाग के तमाम अधिकारी और बार, होटल व रेस्तरां संचालकों के साथ मीटिंग की। मीटिंग में फैसला लिया गया है कि होटल, रेस्तरां व तमाम जगह जहां भी बार का लाइसेंस दिया गया है वहां बाउंसर तैनात नहीं किए जाएंगे। मॉडल शॉप पर भी बाउंसर नहीं रखने के निर्देश दिए गए हैं। मेरठ मंडल संयुक्त आबकारी आयुक्त ने स्पष्ट कहा है कि अगर बार में आने वाले व्यक्तियों के साथ किसी भी तरह का विवाद या मारपीट की घटना होती है तो कानूनी कार्रवाई होगी। अगर कोई व्यक्ति बार में आकर अभद्रता या मारपीट करता है तो इसकी सूचना तुरंत पुलिस को देनी होगी। खुद से कार्रवाई करने का प्रयास न करें। बार के कर्मचारी अगर किसी भी व्यक्ति के साथ मारपीट अभद्रता करते हैं तो इसकी जिम्मेदारी संचालक की होगी।
संयुक्त आबकारी आयुक्त मेरठ जोन ने मीटिंग में कहा कि सभी बार संचालकों को अपने कर्मचारियों की लिस्ट, फोटो और आधार कार्ड के साथ 100 रुपये के स्टांप पर दो सेट के साथ आबकारी ऑफिस में उपलब्ध कराना होगा। इसके बाद कर्मचारियों का चरित्र सत्यापन कराया जाएगा। संचालक को स्टांप पर अपना एफिडेविट देना होगा कि उनके यहां कितने कर्मचारी काम करते हैं। वाइन मीटिंग में फैसला वाइन शॉप पर भी लोगों से दुकानदार अभद्रता करते हैं तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जाए। अगर कस्टमर किसी तरह की मारपीट या गाली गलौज करता है तो उसकी शिकायत पुलिस से करें।
मॉल के पुराने कर्मचारी हैं मैनेजर के हत्यारोपी बाउंसर
लॉस्ट लेमंस रेस्तरां-बार में हुई बृजेश राय की हत्या के आरोपी बाउंसर सेक्टर-38ए स्थित गार्डन गैलेरिया मॉल के ही निजी कर्मचारी हैं। एसीपी अंकिता शर्मा ने बताया है कि बृजेश राय के साथ मारपीट करने वाले दो बाउंसर किसी सिक्यॉरिटी एजेंसी के नहीं हैं। ये दोनों मॉल में 10 वर्षों से काम कर रहे थे। मामले की जांच की जा रही है कि मॉल में बाउंसर रखने के लिए सुरक्षा मानकों का कितना पालन किया गया है। इस बात की भी जांच की जा रही है कि मॉल में तैनात इन लोगों को कितना प्रशिक्षण दिया गया था। अगर किसी भी प्रकार की जांच में लापरवाही सामने आती है तो उसी अनुसार कार्रवाई की जाएगी।
एसीपी अंकिता शर्मा ने बताया है कि मॉल में लगे सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में बृजेश के दोस्त बार के कर्मचारियों के साथ भिड़ते हुए दिख रहे हैं। जब बार के मैनेजर ने बाउंसरों को बुलाया था तो उस दौरान बृजेश राय आगे थे। बाउंसरों से मारपीट हुई। इस कारण उन्हें ज्यादा चोटें आईं। उनके अन्य दोस्तों के साथ कर्मचारियों की मामूली झड़प हुई थी। इस वजह से मृतक के किसी दोस्त को घटना में गंभीर चोटें नहीं आई है। एडीसीपी नोएडा रणविजय सिंह ने बताया गार्डन गैलरिया मॉल में हुई घटना के बाद दोबारा से इस प्रकार की घटना न हो इसलिए पुलिस कमिश्नर गौतमबुद्ध नगर के आदेश पर शहर के सभी मॉल, रेस्तरां, होटल के साथ ही अन्य सार्वजनिक स्थानों पर लगे प्राइवेट सिक्यॉरिटी के साथ ही निजी बाउंसर सर्विस देने वाली कंपनियों की जांच की जाएगी। इस जांच में सुरक्षा के सभी मानव को जिसमें प्रशिक्षण, तैनाती,ड्यूटी का समय से लेकर हर बिंदुओं की बारीकी से जांच की जाएगी। अगर किसी भी सुरक्षा एजेंसी और सार्वजनिक स्थानों पर तैनात बाउंसर के चयन में कोई खामी पाई जाती है, तो उन पर सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी।
-एजेंसियां

[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *