मुंबई पुलिस ने बीजेपी प्रवक्ता नुपूर शर्मा के खिलाफ़ ‘ईशनिंदा’ का मामला दर्ज किया

Politics

[ad_1]

मुंबई पुलिस ने आईपीसी की धारा 153ए, 295ए और 505(2) के तहत बीजेपी की प्रवक्ता नुपूर शर्मा के खिलाफ़ मामला दर्ज किया है. एक टीवी इंटरव्यू के दौरान नूपुर शर्मा ने कथित रूप से पैग़म्बर मुहम्मद पर विवादित बयान दिया था, जिसके आरोप में उनके ख़िलाफ़ यह कार्रवाई की गई है. मुंबई पुलिस ने यह मामला एक मुस्लिम सामाजिक संस्था रज़ा एकेडमी की शिकायत पर दर्ज किया है.
रज़ा एकेडमी ने ट्वीट करके इसकी पुष्टि भी की है. ट्वीट के मुताबिक़ “रज़ा एकेडमी ने मुंबई के पुलिस कमिश्नर को बीजेपी की प्रवक्ता नूपुर शर्मा के ख़िलाफ़ ‘ईशनिंदा’ के मामले में औपचारिक शिकायत दी है. रज़ा एकेडमी की शिकायत के बाद पुलिस कमिश्नर ने तुरंत ही नूपुर शर्मा के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज करने के आदेश दे दिया था. अब इस मामले में एफ़आईआर दर्ज हो गई है.”
गिरफ़्तारी को लेकर मुहिम
इससे पहले रज़ा एकेडमी ने ट्वीट करके नूपुर शर्मा को गिरफ़्तार करने की मुहिम चलाई थी. उन्होंने #ArrestNupurSharma टैग चलाया था और लोगों से अपील की थी कि वे अधिक से अधिक संख्या में इस हैशटैग के साथ अपना विरोध दर्ज कराएं. उन्होंने ट्वीट किया था, “नबी की शान में गुस्ताख़ी करने वाली नूपुर शर्मा को गिरफ़्तार करो.”
इसके अलावा महाराष्ट्र की टीपू सुल्तान पार्टी की ओर से भी ट्वीट करके बताया गया है कि नूपुर शर्मा के ख़िलाफ़ मामला दर्ज किया गया है.
टीपू सुल्तान पार्टी की ओर से ट्वीट किया गया है- “टीपू सुल्तान पार्टी ने महाराष्ट्र के अंबाजोगाई पुलिस स्टेशन में नूपुर शर्मा के ख़िलाफ़ केस दर्ज कराया गया है.”
पाकिस्तान में भी ट्रेंड कर रहा है #ArrestNupurSharma
नूपुर शर्मा की गिरफ़्तारी को लेकर चलाया गया हैशटैग भारत में तो शनिवार को टॉप ट्रेंड था लेकिन भारत के पड़ोसी देश पाकिस्तान में यह शनिवार के साथ-साथ रविवार को भी ट्रेंड में बना हुआ है.
पाकिस्तान में भी इसी हैशटैग के साथ लोग ट्वीट कर रहे हैं.
जहांगीर ख़ान नाम के ट्विटर यूज़र ने इसी हैशटैग के साथ ट्वीट किया है. उन्होंने लिखा है, “इस इस्लामोफ़ोबिक महिला को गिरफ़्तार किया जाना चाहिए, उन्होंने हमारे पैगंबर का अपमान किया. सभी मुस्लिम देशों को भारत का बहिष्कार करना चाहिए.”
आसिफ़ नाम के एक यूज़र ने ट्वीट किया है- “यह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का अधिकार नहीं है. भारत की सत्तारूढ़ पार्टी की प्रवक्ता ने सीधे तौर पर पैगम्बर मुहम्मद का अपमान किया है. उन्होंने यह बयान देकर दुनियाभर के मुसलमानों की भावनाओं और सम्मान का मज़ाक उड़ाया है.”
क्या है पूरा मामला?
नूपुर शर्मा ने टाइम्स नाउ के एक पैनल में हिस्सा लिया था. यह डिबेट ज्ञानवापी मस्जिद विवाद को लेकर की जा रही थी. नूपुर शर्मा ने अपनी बारी आने पर कथित रूप से कुछ ऐसा कह दिया जिससे विवाद छिड़ गया.
नूपुर पर आरोप हैं कि उन्होंने पैगंबर मुहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी की है और उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की मांग की जा रही है.
हालांकि नूपुर का दावा है कि उनके बयान को तोड़-मरोड़कर पेश किया गया है. उन्होंने यह भी दावा किया है कि उन्हें और उनके परिवार को इस्लामी कट्टरपंथियों से जान से मारने की धमकियां मिल रही हैं. नूपुर शर्मा ने ख़ुद को मिल रहे धमकी भरे संदेशों के बारे में ट्विटर के ज़रिए शुक्रवार की शाम दिल्ली पुलिस को सूचना भी दी है.
उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “मेरे परिवार और मुझे लगातार जान से मारने और सिर काटने की धमकियां मिल रही हैं. यह सब @zoo_bear (मोहम्मद ज़ुबैर का ट्विटर एकाउंट) के सांप्रदायिक भावनाओं को भड़काने और नकली कहानी बनाकर माहौल ख़राब करने के उनके प्रयासों के चलते हो रहा है. कुछ तस्वीरें संलग्न कर रही हूं. कृपया ध्यान दीजिए.”
समाचार एजेंसी एएनआई से बात करते हुए नूपुर शर्मा ने दावा किया कि अपने आपको फैक्ट चेकर कहने वाले मोहम्मद ज़ुबैर ने मेरे एक टीवी डिबेट्स के मनमाने तरीक़े से एडिट किए गए वीडियो डाल कर मेरे ख़िलाफ़ गंदा माहौल बनाया है. और तब से मुझे और मेरे परिजनों को जान से मारने और रेप की धमकियां मिल रही हैं.
ट्विटर इस मामले पर दो धड़ों में बंटा नज़र आ रहा है.
एक धड़ा जहां नूपुर शर्मा के समर्थन में खड़ा आ रहा है वहीं एक वर्ग मोहम्मद ज़ुबैर के समर्थन में भी आ खड़ा हुआ है. नूपुर शर्मा के समर्थन में खड़े लोगों ने #ArrestZubair हैशटैग भी सोशल मीडिया पर ट्रेंड होने लगा.
-एजेंसियां

[ad_2]

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *