संतुष्टि,विजय व एपेक्स आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज ने किया ऐसा खेल,आयुष निदेशक की मदद से फेल छात्रों का कराया मेडिकल कालेज में प्रवेश 

उत्तर प्रदेश

पोर्टल पर फेल छात्रों को कट ऑफ मेरिट का दिया नम्बर ,प्रति छात्र एक लाख रुपया कर लिया जेब के अंदर ,करोड़ो की हुई अवैध वसूली

 

वाराणसी/लखनऊ/धरती का दूसरा भगवान कहलाने वाले डॉक्टर का हमारे समाज मे एक अलग स्थान रहता है,लेकिन पैसे की भूख इस कदर बढ़ गयी है आज की कुछ लोग की करनी से डॉक्टर शब्द के महत्व को ही बदल दिया है।कहते है कि जब नीवं ही खोखली तो इमारत कहां से बुलन्द बनेगी।कुछ ऐसा ही कारनामा वाराणसी में चल रहे डॉ.विजय व एपेक्स और सन्तुष्टि आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज एवं प्रदेश के कई मेडिकल कालेजों ने कर दिखाया कि नीट परीक्षा में नाट क्वालिफाइड छात्रों का आयुष निदेशक के कार्यालय में कार्यरत कुछ कर्मचारियों की कथित मदद से इन छात्रों का मेडिकल कालेज में प्रवेश करवा दिया।यही नही उन सभी छात्रों से यह कहा गया कि आप लोग नीट की परीक्षा में फेंल हो गए हो आप सभी लोगो को पास करवाना होगा जिसके लिए इन छात्रों से कथित तौर पर एक लाख से डेढ़ लाख की अवैध वसूली भी की गई।

प्रथम काउंसलिंग के बाद आयुर्वेदिक मेडिकल कॉलेज प्रवेश के लिए जनरल छात्रों के लिए 122,ओबीसी,एससी व एसटी के लिए 96 नम्बर निर्धारित किया गया था।यदि उनके नीट के ओरिजनल प्राप्तांक को उनके काउंसलिंग के नम्बर से मिलान किया जाय तो दूध का दूध व पानी का पानी हो जाएगा।इसमें मुख्य रूप से पूर्वांचल के वाराणसी में डॉ विजय आयुर्वेदिक कालेज व संतुष्टि आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज, एपेक्स मेडिकल कालेज चुनार जनपद मिर्जापुर व धन्वन्तरि आयुर्वेदिक मेडिकल कालेज मथुरा एवं प्रदेश के कई मेडिकल कालेज कथित रूप से संलिप्त है।कड़ाई से जांच हो गयी तो इनकी कलई खुलनी तय है।इन सब कालेज के कुकृत्यों से प्रदेश के प्राइवेट मेडिकल आयुर्वेदिक कालेजो में अपात्र छात्रों को प्रवेश मिल गया जो कि काफी चिंताजनक है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *